Diwali 2021 : दीपावली के दौरान ध्यान रखें ये 9 बातें ताकि खुशियोंभरा रहे आपका त्योहार

अंधकार को दूर कर चारों तरफ खुशियां बिखेरने वाला दीपों का पर्व दीपावली आने में कुछ ही दिन बाकी है. ये त्योहार धनतेरस के दिन से शुरू होकर भैया दूज तक च​लता है. पंचदिवसीय ये त्योहार वैसे तो हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है, लेकिन इसमें इतना हर्ष और उल्लास है कि इसे अब सभी धर्म के लोग मनाने लगे हैं. इस बार दीपावली का ये पंचदिवसीय पर्व 2 नवंबर मंगलवार से शुरू होकर 6 नवंबर शनिवार तक चलेगा.

4 नवंबर गुरुवार के दिन मुख्य रूप से दीपावली मनाई जाएगी. दीपावली के दिन माता लक्ष्मी और गणपति के पूजन के बाद पटाखे चलाने की परंपरा है. पटाखों की आवाज और इससे निकलने वाला धुआं सांस के रोगियों और हृदय रोगियों समेत तमाम लोगों के लिए समस्या पैदा कर सकता है. ऐसे में बेहद सतर्कता बरतने की जरूरत होती है. याद रखिए किसी भी त्योहार का मजा तभी होता है, जब घर के सभी लोग खुश और सुरक्षित हों. ऐसे में यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स जो आपके और परिवार की सुरक्षा में अहम भूमिका निभा सकते हैं.

दीपावली पर पटाखे चलाते समय ध्यान रखें ये बातें

1.ज्यादा तेज आवाज करने वाले पटाखों को चलाने से परहेज करें. इनकी आवाज से आपके कान के परदे फट सकते हैं. परिवार में बुजुर्ग हैं, तो विशेष रूप से इस बात का खयाल रखें.

2.अस्थमा या सांस के रोगी हैं तो पटाखों के आसपास न जाएं. कोशिश करें कि आप घर के अंदर ही रहें क्योंकि पटाखों से निकलने वाले धुएं और गैसों से अस्थमा अटैक पड़ सकता है. इसके अलावा अन्य सांस के रोगियों को भी इसकी वजह से परेशानी हो सकती है. अगर बाहर जाने की जरूरत पड़े तो मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.

3.डायबिटीज के मरीज पटाखों से दूरी बनाकर रखें. अगर इसके कारण किसी भी तरह की इंजरी हो गई तो उसे ठीक करना मुश्किल हो जाता है.

4.पटाखे हमेशा खुली जगह जैसे छत या फिर पार्क वगैरह में ही चलाएं. इसे चलाते समय कॉटन के ढीले ढाले कपड़े पहनें, सिंथेटिक कपड़ों से पूरी तरह परहेज करें.

5.अगर आपको पहले कभी ब्रेन स्ट्रोक पड़ चुका है या आप हार्ट के मरीज हैं, तो आपको पटाखों से खुद को दूर रखना चाहिए. सुरक्षित रहने के लिए घर पर ही रहें या दूर बैठकर त्योहार का आनंद लें.

6.दीपावली पर पटाखों से हुए प्रदूषण का असर आपकी स्किन पर पड़ता है. इसके प्रभाव से बचने के लिए खूब पानी पीएं और स्किन को हाइड्रेट रखें. पटाखें चलाने के बाद स्किन को अच्छे से साफ करें और इस पर मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल जरूर करें ताकि स्किन रूखी न हो.

7.पटाखों से आंखों को सुरक्षित रखना भी जरूरी है. ऐसे में दूर रहकर पटाखे चलाएं और पटाखे चलाने के बाद आंखों को पानी से छींटें मारकर धोएं और गुलाब जल डालें.

8.घर पर फर्स्टएड बॉक्स तैयार करके जरूर रखें ताकि अगर छोटी मोटी समस्या आ भी जाए तो उससे निपटा जा सके.

9.फर्स्टएड बॉक्स में पट्टी, रुई, पेनकिलर और ऑइंटमेंट जरूर रखें. ज्यादा जलने पर फौरन चिकित्सक को दिखाएं.

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares