15 अगस्त के बाद आपके गांव में ही बनेंगे जाति, आय, निवास प्रमाण पत्र, बिहार सरकार ने RTPS को लेकर दिया बड़ा आदेश, जानिए क्या है पूरा मामला

अब आपको बिहार में जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र और अन्य प्रमाण पत्रों को बनाने के लिए आरटीपीएस के ऑफिस जाकर लंबी लाइन लगने या ऑनलाइन झमेले में नहीं झेलना पड़ेगा। बता दें कि बिहार सरकार ने आरटीपीएस को लेकर एक बड़ा आदेश जारी किया है। जानकारी के अनुसार पंचायती राज विभाग की ओर से ग्राम पंचायतों को यह आदेश जारी करते हुए कहा गया है कि हर गांव के ग्राम पंचायतों में आगामी 15 अगस्त से पहले आरटीपीएस काउंटर खोलना अनिवार्य है।

राज्य सरकार ने लोक शिकायत से जुड़े सेवाओं को और सुलभ और आसान बनाने के लिए यह बड़ा कदम उठाया है। बता दें कि हर पंचायत में 15 अगस्त के बाद आरटीपीएस काउंटर 10:00 बजे से जनता को सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। इसके लिए मंगलवार को आदेश पत्र भी जारी कर दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार पंचायती राज विभाग मंत्री सम्राट चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस आदेश के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में राज्य सरकार की ओर से उचित साधन और सामानों की व्यवस्था भी करा दी जाएगी।

बता दें कि राज्य सरकार की ओर से जारी किए गए पत्र में यह कहा गया है कि इन सेवाओं को ग्राम पंचायतों में शुरू करने का उद्देश्य है कि अब इन सेवाओं के लिए लोगों को प्रखंड कार्यालय में आने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इसके साथ साथ 15 अगस्त से पहले प्रत्येक पंचायत में आरटीपीएस काउंटर के संचालन की व्यवस्था का भी आदेश जारी कर दिया गया है।

पंचायती राज विभाग मंत्री सम्राट चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि आरटीपीएस काउंटर स्थापित करने के लिए राज्य सरकार की ओर से प्रत्येक पंचायतों को फर्नीचर और अन्य सामानों के लिए धनराशि आवंटित की जा चुकी है। इसके साथ-साथ पंचायतों में आरटीपीएस काउंटर खोलने का समय सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक निर्धारित किया गया है।

इस अनुसार ग्राम पंचायतों में आरटीपीएस काउंटर की स्थापना होने के बाद अब लोगों को जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र और निवास प्रमाण पत्र जैसी सुविधाओं के लिए प्रखंड जाकर लंबे लाइनों में लगने की समस्या से मुक्ति मिल जाएगी।

इसे शेयर करें और निचे कमेंट कर अपने विचार जरूर रखें 🙂

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares